Wednesday, 18 May 2016

सोने ने किया कमाल निवेशक अब होंगे मालामाल

इस साल सोने ने पूरे बाजार को चौंका दिया है। जनवरी से अब तक इसकी कीमतों में करीब 20 फीसदी की तेजी आ चुकी है। दुनिया की कमोबेश सभी एजेंसिया जब सोने में गिरावट के कयास लगा रही थीं, सोना एकाएक चमकने लगा। आखिर क्यों चमका सोना। क्या ग्लोबल इकोनॉमी को महंगाई का डर सता रहा है या मंदी का जोखिम फिर उभर रहा है। क्योंकि बात चाहे यूएस इकोनॉमी ही हो या भारतीय रुपये की चाल की, हालात जस की तस है। तो क्या फिर चौंकाएगा सोना, जानने के लिए लेकर आए हैं हम ये खास पेशकश।

अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर जाये ...www.marketmagnify.com

इस साल निफ्टी ने 2 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है, लेकिन सोने ने 20 फीसदी का बेहतरीन रिटर्न दिया है। दरअसल डॉलर 1.5 साल के निचले स्तर पर तक गिर गया है, ऐसे में सोना 1.5 साल के ऊपरी स्तर तक चढ़ गया। ग्लोबल इकोनॉमी में कमजोरी के संकेत से भी सोने की चमक बढ़ी है। वहीं यूएस फेड का ब्याज दरों पर धीमा रुख भी सोने में तेजी की एक वजह है। गोल्ड ईटीएफ में निवेशकों का रुझान बढ़ा है और गोल्ड ईटीएफ की होल्डिंग 3 साल की ऊंचाई पर पहुंच गई है। कहा जा रहा है कि आगे सोने में और तेजी देखने को मिल सकती है। सोने में और तेजी आने के पीछे कारण बताये जा रहे हैं कि यूएस इकोनॉमी की तस्वीर साफ नहीं है। डॉलर में भारी उतार-चढ़ाव हो रहा है और रुपये में भी रिकवरी के संकेत नहीं हैं। ग्लोबल इकोनॉमी में चीन की चिंता हावी है। वहीं यूरोपियन यूनियन में ब्रिटेन के भविष्य को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं जिससे सोने को मजबूती मिल सकती है।

दूसरी ओर, कच्चा तेल जो सोने को भी मात दे रहा है। कच्चे तेल की शुरुआती तेजी गायब हो गई है। ब्रेंट क्रूड 50 डॉलर के पास जाने के बाद दबाव में आ गया है। दरअसल नाइजीरिया, वेनेजुएला और लीबिया में तनाव और आगे चलकर ग्लोबल भंडार घटने के अनुमान से कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। इस साल के दौरान इसमें करीब 80 फीसदी की तेजी आ चुकी है। ऐसे में गोल्डमैन सैक्स ने क्रूड पर अपना नजरिया अब बदल लिया है, इस साल के शुरुआत में इसने कच्चे तेल को 20 डॉलर तक गिरने का लक्ष्य दिया था, लेकिन कीमतें 27 डॉलर का स्तर छूने के बाद से लगातार बढ़ रही हैं।

No comments:

Post a Comment